अगले 24 घंटे में उत्तराखंड मौसम विभाग ने जारी की बर्फबारी और हिमस्खलन की चेतावनी,

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने उत्तराखंड में अगले 24 घंटों में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात और हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार रविवार शाम से ही अगले 24 घंटों में राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में  हिमपात और हिमस्खलन हो सकता है।

जिला आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार चेतावनी को देखते हुए पुलिस, वन, विकास, ऊर्जा निमग समेत तमाम महकमों को प्रशासन ने अलर्ट कर दिया है। आपदा प्रबंधन विभाग और संबंधित नोडल अधिकारियों को भी अलर्ट पर रखा गया है। अधिकारियों, कर्मचारियों को मोबाइल फोन ऑन रखने के निर्देश

मसूरी समेत ऊंची चोटियों पर बर्फबारी

सीमांत क्षेत्र में फिर हिमपात और जिले के अधिकाशं क्षेत्रों में झमाझम बारिश के बाद जिले में शीतलहर का प्रकोप जारी है।  हिमपात के चलते थल-मुनस्यारी मार्ग कुछ देर के लिए बलांती, कालामुनि के पास बंद हो गया। जिसे लोनिवि ने जेसीबी से बर्फ हटाकर मार्ग पर यातायात सुचारु कर दिया।

जिला मुख्यालय में शुक्रवार रात से ही झमाझम बारिश लगी रही। सुबह के समय कुछ देर के लिए बारिश रुकी, लेकिन बाद में रुक-रुक कर बूंदाबांदी होती रही। शुक्रवार रात से ही  उच्च हिमालयी चोटियों हंसलिंग, राजरंभा, पंचाचूली, नाग्निधुरा, छिपलाकेदार में हिमपात जारी रहा।

जिले के मुनस्यारी, धारचूला के ऊंचाई वाले स्थानों में शनिवार सुबह से ही बर्फ गिर रही है। मुनस्यारी में दोपहर 1.15 बजे बर्फबारी हुई।  बर्फबारी के कारण सीमांत जिला कड़ाके की ठंड की चपेट में है।

देहरादून मौसम बिभाग के अनुसार

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के अनुसार 18 फरवरी से अगले 24 घंटों में राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में 21 फरवरी तक हिमपात और हिमस्खलन हो सकता है।

चेतावनी को देखते हुए जिलाधिकारी रणवीर सिंह चौहान ने सभी अधिकारियों को हाई अलर्ट में रहने और अपने मोबाइल चौबीस घंटे खुले रखने के निर्देश दिए हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार रविवार शाम से ही अगले 24 घंटों में राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में हिमपात और हिमस्खलन हो सकता है। विज्ञापन जिला आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार चेतावनी को देखते हुए पुलिस, वन, विकास, ऊर्जा निमग समेत तमाम महकमों को प्रशासन ने अलर्ट कर दिया है।

आपदा प्रबंधन विभाग और संबंधित नोडल अधिकारियों को भी अलर्ट पर रखा गया है।

अधिकारियों, कर्मचारियों को मोबाइल फोन ऑन रखने के निर्देश दिए गए हैं। मुनस्यारी समेत ऊंची चोटियों पर बर्फबारी सीमांत क्षेत्र में फिर हिमपात और जिले के अधिकाशं क्षेत्रों में झमाझम बारिश के बाद जिले में शीतलहर का प्रकोप जारी है।

हिमपात के चलते थल-मुनस्यारी मार्ग कुछ देर के लिए बलांती, कालामुनि के पास बंद हो गया।

जिसे लोनिवि ने जेसीबी से बर्फ हटाकर मार्ग पर यातायात सुचारु कर दिया। जिला मुख्यालय में शुक्रवार रात से ही झमाझम बारिश लगी रही।

सुबह के समय कुछ देर के लिए बारिश रुकी, लेकिन बाद में रुक-रुक कर बूंदाबांदी होती रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *