कोविड थर्ड वेवः 10 और बिंदुओं पर काम करने की जरूरत

एसडीसी फाउंडेशन से स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भेजकर दिये सुझाव
देहरादून। देहरादून स्थिति एसडीसी फाउंडेशन ने स्वास्थ्य मंत्री डाॅ धन सिंह रावत को पत्र लिखकर कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए 10 बिंदुओं पर काम करने का सुझाव दिया है। पत्र में फाउंडेशन ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं, लेकिन दूसरी लहर के दौरान सामने आई समस्याओं को देखते हुए 10 और बिंदुओं पर काम किया जाना जरूरी है। इससे संभावित तीसरी लहर ने निपटने में मदद मिलेगी।

फाउंडेशन ने अपने पत्र में कोविड टेस्टिंग के लिए प्राइवेट लैब के साथ सामंजस्य बनाने, टेस्ट करवाने वाले हर व्यक्ति को रिपोर्ट का इंतजार किये बिना कोविड किट उपलब्ध करवाने, मार्केट में कोविड प्रोटोकॉल की दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने, दवाइयों और अन्य मेडिकल उपकरणों की काला बाजारी रोकने जैसे कई सुझाव दिये हैं।

पत्र में यह भी कहा गया है कि दूसरी लहर के दौरान जब लोग अपने मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड की तलाश कर रहे थे तो स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट पर उपलब्धता गलत दिखाई जा रही थी। कई अन्य जानकारियां भी उपलब्ध नहीं थी। पत्र में कहा गया है कि स्वास्थ्य विभाग की वेब साइट लगातार अपडेट की जानी चाहिए और जरूरत पड़े तो इस काम के लिए वेब मास्टर्स की नियुक्तियां की जानी चाहिए।

इसके अलावा पत्र में ऑक्सीजन और एंबुलेंस की पुख्ता व्यवस्था करने, विभिन्न कार्यों में सिविल सोसायटी की मदद लेने, संक्रमित परिवारों के लिए भोजन की व्यवस्था करने और हर पेशेंट की काउंसलिंग करने की व्यवस्था अभी से कर लेने का भी सुझाव दिया है।

फाउंडेशन के संस्थापक अनूप नौटियाल का कहना है कि इस बार कोविड की दूसरी लहर के दौरान हमने कई तरह की समस्याओं का सामना किया और इससे हमने कई अनुभव भी हासिल किये। इसलिए यदि तीसरी लहर आती है तो उसमें इन अनुभवों का लाभ उठाते हुए बेहतर इंतजाम किये जा सकते हैं। इन 10 बिंदुओं पर गंभीरता से काम किया जाए तो तीसरी लहर से निपटने में ज्यादा आसानी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *