दून विवि में दस दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला

रिसर्च मैथोडोलोजी पर दस दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के नवें दिन वेब आधारित सूचना स्रोतों का शोध के लिये महत्वपूर्ण भूमिकाः डाॅ0 आशीष कुमार देहरादून, स्कूल आफ मैनेजमेंट, दून विश्वविद्यालय द्वारा रिसर्च मैथोडोलोजी पर आयोजित दस दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के नवें दिन दून विश्वविद्यालय के केन्द्रीय पुस्तकालय के डाॅ0 आशीष कुमार ने बैब आधारित सूचना स्रोतों के बारे में शोधार्थियों को विस्तार से प्रस्तुति की। उन्हांेंने कहा कि आज शोध के लिये कई बेवसाइट उपलब्ध हैं जहां से हम निशुल्क अपने उपयोग की सूचनाएं प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने गूगल स्काॅलर, डायरेक्ट्री आॅफ ओपन एक्सेस जर्नल, डायरेक्ट्री आॅफ ओपन एक्सेस बुक, ओपन डोर (ओपन एक्सेस डायरेक्टी आॅॅफ इस्टीट्यूशनल रिपोजेटरी), रिसर्च गैट, शोध गंगा, शोध गंगोत्री, ई0पी0जी0 पाठशाला, नैपटेल, आॅर्किड आई0डी0, सर्च स्टेटर्जी, सर्च इंजन, नेशनल डिजिटल रिसर्च लाइब्रेरी आॅफ इंडिया, विकीपीडिया आदि स्रोतों को उपयोग करने का तरीके एवं सावधानियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। डाॅ0 कुमार ने कहा कि आॅनलाइन उपलब्ध स्रोतो का उपयोग यदि सावधानी पूर्वक किया जाय तो शोधार्थियों को काफी फायदा होगा। क्योंकि आज का दौर सूचना तकनीकी का दौर है इसलिये सूचनाओं के उपयोग करते समय सावधानी बरतनी आवश्यक है। उन्होंने शोधार्थियों को कट,काॅपी एवं पेस्ट से बचने की हिदायत दी।
वीर बहादुर सिंह पूर्वाचंल विश्वविद्यालय, जौनपुर, उत्तर प्रदेश के मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो0 अजय प्रताप सिंह ने अगले सत्र में मल्टी वैरिएट विश्लेषण विधि का विस्तार से प्रस्तुतिकरण करते हुए बताया कि यह विधि कब और कैसे उपयोग की जाती है।
अंतिम सत्र में छात्रों का फील्ड विजिट हेतु मसूरी भेजा गया। फील्ड विजिट में वाह्य विशेषज्ञ प्रो0 अजय प्रताप सिंह, डाॅ0 रीना सिंह, डाॅ स्मिता त्रिपाठी, डाॅ0 वैशाली एवं अनुराग कुशवाहा सम्मिलित हुए।
अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रबन्धशास्त्र स्कूल के विभागाध्यक्ष प्रो0 एच0सी0 पुरोहित ने कहा कि फील्ड विजिट से छात्रों को सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक दोनों तरह के शोध प्रक्रिया की जानकारी हो पायेगी। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 प्राची पाठक ने किया एवं धन्यवाद डाॅ0 आशीष सिन्हा ने किया। इस अवसर पर अंकित घिल्डियाल, इमोन श्याम, अनीशा ठाकुर, पूजा सिंह काशिया, अमरप्रीत सिंह, नरेन्द्र कुमार, अपूर्वा भटनागर, शिवांगी सिन्हा, सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों के शोधार्थी उपस्थित रहे।
रिसर्च मैथोडोलोजी पर दस दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का समापन कल- समापन  समारोह के मुख्य अतिथि हे0न0ब0ग0वि0 पूर्व कुलपति प्रो0 एस0पी0 सिंह होंगे एवं विशिष्ट अतिथि भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली की पर्यवेक्षक एवं जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली की प्रोफेसर अमिता सिंह होंगी। अध्यक्षता प्रो0 सी0एस0 नौटियाल, कुलपति, दून विश्वविद्यालय करेंगे। \

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *