पत्नी और दो मासूम बेटियों की हत्या करने वाला गिरफ्तार, तीन दिन से खा रहा था जहर, नहीं हुई मौत

पत्नी और दो मासूम बेटियों की हत्या करने वाले आरोपित चंद्रशेखर पुत्र बिशन राम को राजस्व पुलिस ने देवनगर के जंगल से गिरफ्तार कर लिया है।

पूछताछ में चंद्रशेखर ने तीनों का कत्ल करने की बात भी कबूल कर ली है। चार दिन तक हत्यारे की तलाश में इधर-उधर भटक रही पुलिस और राजस्व पुलिस ने हत्यारे को पकडऩे के बाद राहत की सांस ली।

बता दें सोमवार की शाम देवनगर में मां और बेटी का शव जंगल में मिला था, इसी के बाद दूसरे दिन 10 माह की बच्ची का शव भी वहीं से बरामद किया गया। इसके बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। आरोपित पति चंद्रशेखर तब से फरार था।

शुक्रवार को देवनगर के जंगल से गिरफ्तार करने के बाद चंद्रशेखर ने राजस्व पुलिस को बताया कि उसे अपनी के चरित्र पर शक था। इसी के चलते उसने उसे ठिकाने लगाने की ठान ली। चंद्रशेखर के अनुसार उसने घटना को 20 जनवरी के दोपहर में अंजाम दिया।

उसकी मंशा उनको मारने की नहीं थी। वह देवनगर के समीप अपनी रिश्तेदारी में परिवार के साथ जा रहा था कि मार्ग में उसका पत्नी विमला देवी के साथ झगड़ा हो गया और इसी झगड़े के चलते उसने पहले विमला देवी को गहरी खाई में धक्का दे दिया।

उस समय विमला देवी की गोद में उसकी 10 माह की लड़की रेनू भी सो रही थी वह भी खाई में गिर गई। इसके बाद उसने अपनी 14 वर्षीय दूसरी बेटी उमा को भी गहरी खाई में धकेल दिया। घटना को उसने अकेले अंजाम दिया उसके साथ कोई शामिल नहीं था।

नवाजिश खलीक, तहसीलदार ने बताया कि हत्यारोपी चंद्रशेखर को देवनगर के घने जंगल से राजस्व टीम ने गिरफ्तार किया है। बीबी के अन्य लोगों से संबंध होने के शक के चलते बीबी विमला देवी, बेटी उमा और रेनू को खाई में धक्का देने की बात कबूली है। 

राजस्व पुलिस ने जब देवनगर के घने जंगल से गिरफ्तार किया उस समय वह आधे-अधूरे होश में था। चंद्रशेखर ने राजस्व पुलिस को बताया कि वह 20 जनवरी से घटना को अंजाम देने के बाद जंगल में रह रहा है।

इस बीच वह दिन भर घने जंगल में रहता था और देर रात अपने घर में आ जाता था। उसके पास खाने को कुछ नहीं था और वह घर में पड़ी चूहे मारने की दवा को लगातार खा रहा है, लेकिन मौत नहीं हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *