बीजेपी की जम्मू रैली में उमड़ा हुजूम, मोदी फ्यूचर ऑफ इंडिया लव यू जैसे दिखे पोस्टर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विजयपुर में महारैली में एक लाख से भी अधिक लोग जुटे। भीड़ ने साबित कर दिया है कि 2014 की मोदी लहर अभी कम नहीं हुई है। मोदी के भाषण के दौरान लोगों का जोश चरम पर रहा। लोग मोदी-मोदी के नारे लगाते रहे।

प्रधानमंत्री का चॉपर जैसे ही लैंड होने लगा, लोग सीटों से खड़े हो गए और मंच से चल रहे भाजपा नेताओं के भाषण को अनसुना कर मोदी के नारे लगाने लगे। मोदी ने मंच के हर कोने में जाकर और हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया। प्रधानमंत्री के मंच से संबोधन के दौरान एनएसजी के इशारे पर रैली स्थल तक पहुंचने वाले गेट बंद कर दिए गए।

इसके बावजूद गेट के बाहर और नेशनल हाईवे तक लोगों ने खड़े होकर मोदी का भाषण सुना। मोदी ने करीब 37 मिनट तक संबोधन किया। लोगों ने पूरे जोश व उत्साह के साथ उनका भाषण सुना। महारैली में कोई मोदी का मुखौटा पहनकर प्रधानमंत्री के प्रति अपने समर्थन का इजहार करता दिखा तो कोई एक झलक पाने के लिए कुर्सी न मिलने पर जमीन पर ही बैठकर उनका भाषण सुन रहा था।

रैना को मोदी ने दी शाबाशी
महारैली में बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी गदगद दिखे। मंच पर ही वह प्रदेशाध्यक्ष रवींद्र रैना के पास गए और उनके कंधों पर हाथ रखकर बोले शाबाश। इस बारे में रैना से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मोदी ने महारैली में प्रदेश भाजपा के शानदार कार्य की तारीफ करते हुए उन्हें शाबाशी दी।

मंच के दाएं बाएं आडवाणी, वाजपेयी के पोस्टर  
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महारैली के लिए बनाए गए मंच के दाएं तरफ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी व बाएं तरफ भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का पोस्टर भी लगाया गया था। अबकी बार फिर मोदी सरकार के शीर्षक पर हुई महारैली में स्वामी विवेकानंद के चित्र के साथ उठो जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाए के प्रेरणादायी शब्द भी लिखे गए थे।

आधिकारिक और सियासी कार्यक्रम के लिए रहे अलग-अलग मंच
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आधिकारिक और सियासी कार्यक्रम के लिए अलग अलग मंचों का इस्तेमाल किया गया। विजयपुर में सबसे पहले प्रधानमंत्री ने आधिकारिक मंच से राज्यपाल सत्यपाल मलिक, केंद्रीय राज्य मंत्री डा. जितेंद्र और सांसद जुगल किशोर शर्मा की मौजूदगी में विकास कार्यों की आधारशिला रखी या उद्घाटन किए। इसके बाद सियासी कार्यक्रम में दूसरे मंच पर आकर प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *