मुख्यमंत्री सीधे सवांद कार्यकर्म में छात्रों ने पूछे सीएम से पलायन सम्बंधित ये सवाल,

उत्तराखंड देहरादून – राजधानी देहरादून के परेड ग्राउंड में आयोजित युवा उत्तराखंड उद्यमिता रोजगार कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने करीब 12 हजार छात्रों के साथ संवाद किया. इस दौरान सीएम के संवाद का लाइव प्रसारण प्रदेश के 52 डिग्री कॉलेजों में भी किया गया. कार्यक्रम के दौरान लॉटरी के माध्यम से चयनित 6 युवाओं ने सीएम से पर्यटन, भ्रष्टाचार, पलायन, ऑर्गेनिक खेती, कनेक्टिविटी, इन्वेस्टर्स समिट से जुड़े कई सवाल पूछे. वहीं, सीएम ने सवालों का विस्तार से जवाब दिया.

छात्रों द्वारा पूछे गए सवाल एवं सीएम द्वारा दिए गए  उनके जवाब 

पहला सवालः अल्मोड़ा की रहने वाली ईशा जोशी ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से सवाल में पूछा कि राज्य सरकार जीरो टॉलरेंस की बात करती है, बावजूद इसके प्रदेश में भ्रष्टाचार के मामले सामने आ रहे हैं. इसे दूर करने के लिए सरकार क्या कर रही है?
 
सीएम का जवाबः    सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि भ्रष्टाचार समाज से पूरी तरह तभी दूर हो सकता है, जब हम स्वयं से शुरुआत करें. उन्होंने कहा कि रिश्वत लेना और देना भ्रष्टाचार है. किसी को भ्रष्टाचार का कोई मामला दिखाई देने पर सीधे सरकार से शिकायत करे. उनके खिलाफ सरकार तत्काल कार्रवाई करेगी. साथ ही कहा कि सरकार बनते ही भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाई गई है. अभी तक प्रदेश में करीब 60 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है.

दूसरा सवालः   बागेश्वर की रहने वाली ज्योति ने पूछा कि पर्यटन उत्तराखंड के कुछ स्थानों तक ही क्यों सीमित है? बागेश्वर में भी काफी सुंदर स्थान हैं. ऐसे में वहां पर पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए क्या किया जा सकता है?

 
सीएम का जवाबः   सीएम ने कहा उत्तराखंड पर्यटन के क्षेत्र में एक बेहतर डेस्टिनेशन है. राज्य में लगातार पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है. साथ ही बताया कि सरकार नए पर्यटन स्थलों का विकास कर रही है. साथ ही थीम बेस्ड के तहत 13 जिलों में 13 नए डेस्टिनेशन विकसित किया जा रहा है.
तीसरा सवालः   टिहरी के नीरज शर्मा ने सीएम से सवाल पूछते हुए कहा कि प्रदेश में पहली बार इन्वेस्टर्स समिट आयोजित की गई. इन्वेस्टर्स समिट होने के बाद प्रदेश में कितने प्रस्ताव आये और क्या प्रगति हुई?
  
सीएम का जवाबः   सात-आठ सितंबर 2018 को प्रदेश में इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया गया था. समिट में एक लाख 24 हजार करोड़ रुपये के एमओयू साइन किए गए थे. साथ ही बताया कि बीते साढे़ चार महीने में करीब 13 हजार करोड़ के निवेश का काम धरातल पर शुरू हो गया है. इससे 20 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.
 

चौथा सवालः   पौड़ी की रहने वाली इंदु उनियाल ने पलायन आयोग की रिपोर्ट पर सरकार के कार्यों के बारे में पूछा.

सीएम का जवाबः सीएम ने जवाब देते हुए कहा कि पलायन आयोग की रिपोर्ट की जानकारी आ गई है. सरकार के पास गांवों से हुए पलायन का आंकड़ा मिल गया है. पलायन के कारणों पर धरातल पर काम शुरू हो गया है. इसके लिए सरकार नीतियां और प्रोजेक्ट तैयार कर रही है.
पांचवा सवालः  देहरादून के अभिषेक मैथानी ने सीएम से सवाल करते हुए पूछा कि राज्य में कनेक्टिविटी की दिशा में सरकार क्या कर रही है?
सीएम का जवाबः   मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सड़क, रेल और एयर कनेक्टिविटी को लेकर तेजी से काम चल रहा है. जॉलीग्रांट एयरपोर्ट से देश के प्रमुख शहरों को जोड़ा जा चुका है. प्रदेश में ऑल वेदर रोड और ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना पर भी तेजी से काम चल रहा है. साथ ही बताया कि साढे़ 4 सालों में केंद्र सरकार ने एक हजार जहाज की बुकिंग की है.
छठा सवालः   देहरादून की रहने वाली प्रियंका बिष्ट ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से सवाल पूछते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ दौरे पर उन्होंने कहा था कि उत्तराखंड ऑर्गेनिक प्रदेश बनने योग्य है. ऐसे में उत्तराखंड ऑर्गेनिक स्टेट कब बनेगा?

सीएम का जवाबः   सवाल का जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि उत्तराखंड का पर्वतीय क्षेत्र डिफाल्टर ऑर्गेनिक है, लेकिन सरकार अपने स्तर पर कोशिश कर रही है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में 10 हजार ऑर्गेनिक कलस्टर चिन्हित किए गए हैं. साथ ही कहा कि 27 ब्लॉक को ऑर्गेनिक घोषित किया गया है.

अन्तः  इन सवालों का जवाब सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बड़े ही उत्साह के साथ दिया तथा   पलायन जैसी दुविधा पर कार्य करने  के लिए भी सम्भोदित सभा को  विश्वास दिलाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *