हाथ में मोमबत्ती लेकर सड़क पर उतरा मुस्लिम समुदाय, आतंकवाद को सबक सिखाने की मांग

साथ ही इस समुदाय के लोगों ने कहा – कि जिस तरह से एक के बाद एक हमले हो रहे हैं, उससे पूरा देश गहरे शोक में है. देश में हिंदू-मुस्लिम के भीतर आतंकवादियों के खिलाफ गुस्सा है. उन्होंने कहा कि शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि तभी दी जा सकती है जब पाकिस्तान को करारा जवाब दिया जाए.
वहीं मुस्लिम छात्रों में भी इस दौरान आक्रोश देखने को मिला. मुस्लिम छात्र शाहरुख का कहना है कि हिंदुस्तानी जवानों का खून इतना सस्ता नहीं है कि जिसे कोई भी बहाकर चला जाए. युवक ने कहा कि पाकिस्तान के घर में घुसकर उसको सबक सिखाना चाहिए. जिसके लिए भारत सरकार को एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक करनी चाहिए.

मुस्लिम युवकों ने लगाए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

गौरीगंज में मुस्लिम युवक आजम राईन, शमशाद कुरैशी, आदर्श विक्रम सिंह व महताब की अगुवाई में सैकड़ों युवकों ने शहर में विरोध रैली निकाली। युवकों ने कहा कि पाकिस्तान ने नापाक हरकत की है। उसकी हरकत पर उसे सजा जरुर मिलनी चाहिए। विरोध रैली में नदीम, कमर, हाफिज ताहिर, मिस बाह समेत सैकड़ों मुस्लिम समुदाय के युवक शामिल रहे।

इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि जिस तरह से लगातार पाकिस्तान और आतंकवाद हिंदुस्तान के वीर जवानों पर हमला कर रहा है. ऐसे में सरकार को जल्द से जल्द इनके खिलाफ सख्त से सख्त कदम उठाने चाहिए. पाकिस्तान के खिलाफ  सड़कों पर उतरे  मौलवियों ने भी मोदी सरकार से पाकिस्तान को  कड़ा सबक सिखाने की अपील की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *