1 फरवरी को बड़ा तोहफा देगी मोदी सरकार! आपको मिलेगा सीधा फायदा

लोकसभा चुनाव में अब चंद महीने बचे हैं लेकिन चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार आम लोगों को एक खास तोहफा दे सकती है. इस तोहफे का सीधा फायदा आम लोगों को मिलेगा. दरअसल, सरकार की ओर से आयकर छूट की सीमा बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है. इसका सीधा फायदा उन लोगों को मिलेगा जिनकी सालाना कमाई 5 लाख रुपये तक की है. आज हम रिपोर्ट में बताएंगे कि कैसे इसका फायदा मिल सकता है
न्‍यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक सरकारी सूत्रों ने बताया है कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली अंतरिम बजट में मध्‍यम वर्ग को राहत देते हुए आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर दोगुनी कर सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो जो लोग 2.5 लाख रुपये से 5 लाख रुपये तक की सालाना कमाई करते हैं उन्‍हें टैक्‍स नहीं देना पड़ेगा. वर्तमान में जिन लोगों की सालाना कमाई 2.5 लाख रुपये तक की है वह टैक्‍स स्‍लैब में नहीं आते हैं जबकि 2.5-5 लाख रुपये के बीच की सालाना कमाई पर 5 फीसदी का टैक्‍स लगता है
वहीं जिन लोगों की सालाना कमाई 5 लाख से 10 लाख रुपये तक है वह 20 फीसदी टैक्‍स स्‍लैब में आते हैं. जबकि 10 लाख रुपये से अधिक की सालाना इनकम पर 30 फीसदी टैक्‍स लगता है. इसके अलावा जिनकी उम्र 80 साल के अधिक है उन्‍हें 5 लाख रुपये सालाना इनकम पर टैक्‍स छूट दी जाती है.
लेकिन दिक्‍कत भी है
न्‍यूज एजेंसी को सरकारी सूत्रों ने बताया कि टैक्स स्लैब को सुव्यवस्थित करने की योजना बनाई गई है. यह टैक्‍स स्‍लैब किसी भी स्थिति में आगामी डायरेक्ट टैक्स कोड के अनुरूप होंगे. हालांकि इसमें समस्या भी आ सकती है. दरअसल, डायरेक्ट टैक्स कोड रिपोर्ट के आने से पहले आम बजट आ जाएगा. रिपोर्ट जारी होने से पहले टैक्‍स स्‍लैब से छेड़छाड़ इसे विवादास्पद बना देगा. नए डायरेक्ट टैक्स कोड के दायरे में ज्यादा से ज्यादा कर निर्धारती (एसेसी) को टैक्‍स स्‍लैब में लाने की कोशिश की जाएगी. बता दें कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी को अंतरिम बजट पेश करेंगे
इसके अलावा सरकार ने 5 लाख रुपये की सालाना कमाई करने वालों के लिए एक और तोहफा देने की योजना बनाई है. दरअसल, सरकार ने पिछले साल 5 लाख रुपये की कमाई वालों के लिए सालाना 15,000 रुपये तक के मेडिकल खर्चों और 19,200 रुपये तक के परिवहन भत्तों को हटाकर उसकी जगह 20,000 रुपए की मानक कटौती लाया था. लेकिन अब सरकार इस पुराने स्‍ट्रक्‍चर को बहाल कर सकती है. हालांकि, इससे मध्‍य वर्ग को बहुत अधिक फायदा तो नहीं होगा, लेकिन उत्साह जरूर बढ़ेगा.
चुनाव से पहले मास्‍टर स्‍ट्रोक!
लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार मध्‍यमवर्ग के लोगों को लुभाने में जुटी हुई है. इसी के तहत टैक्‍स स्‍लैब में भी बदलाव का विचार किया जा रहा है. दरअसल, मध्‍यम वर्ग के लोगों को बीजेपी का बड़ा वोटबैंक माना जाता है. लेकिन बीते कुछ सालों में टैक्‍स की मार की वजह से इस वर्ग के लोग सरकार से नाराज हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *