1 जुलाई से अमरनाथ तीर्थ यात्रियों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने इस साल की अमरनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 29 मई से शुरू कर दी है। इस साल अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू होगी। श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) कश्मीर घाटी के अनंतनाग जिले में अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा का प्रबंधन करता है। राज्यपाल इस बोर्ड के अध्यक्ष हैं। एसएएसबी ने एक बयान में कहा, “राज्यपाल ने यात्रियों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू किया है, पायलट आधार पर।”

श्राइन बोर्ड के चीफ एग्जिक्युटिव ऑफिसर उमंग नरुला ने कहा है कि यात्रा के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। हर दिन 500 यात्रियों को दो रास्तों के जरिए ले जाया जाएगा। 250 को पहलगाम और अन्य 250 यात्रियों बालटाल के रास्ते ले जाया जाएगा। रजिस्ट्रेशन के लिए यात्री का मेडिकल सर्टिफिकेट अनिवार्य रूप से लगेगा।

यात्रियों की गिनती और उनकी ट्रैकिंग के लिए क्यूआर कोड होगा
इस बार एक नई पहल के रूप में श्राइन बोर्ड यात्रा परमिट फॉर्म (वाईपीएफ) के क्यूआर कोडिंग/ बार कोडिंग को भी लागू किया गया। क्यूआर कोड यात्री के डेटाबेस से जुड़ा हुआ है। क्यूआर कोड वाले वाईपीएफ को एक्सेस कंट्रोल गेट्स डोमेल और चंदनवारी और मध्यवर्ती शिविरों दोनों में स्कैन किया जाएगा। इससे यात्रियों की गिनती और वास्तविक समय के आधार पर उनकी ट्रैकिंग में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *