27 जुलाई की मध्य रात्रि से ऊर्जा निगम के कार्मिको की हड़ताल

आज दिनांक 17 जुलाई को विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के आव्हान पर संयुक्त मोर्चा के सदस्यों द्वारा पशुलोक बैराज में गेट मीटिंग की आयोजित की गई। प्रदेश भर में आंदोलनरत ऊर्जा निगम के कार्मिक पिछले 4 सालों से एसीपी की पुरानी व्यवस्था तथा उपनल के माध्यम से कार्य कार्योजित कार्मिकों के नियमितीकरण एवं समान कार्य हेतु समान वेतन को लेकर लगातार शासन प्रशासन से वार्ता कर रहे हैं व वर्ष 2017 में ऊर्जा निगम के कार्मिक आंदोलनरत थे।

तब 22 दिसंबर 2017 को कार्मिकों के संगठनों तथा सरकार के बीच द्विपक्षीय समझौता हुआ परंतु आज तक उस समझौते पर कोई कार्यवाही नहीं हुई ऊर्जा निगम के कार्मिक इस बात से क्षुब्ध हैं कि सातवें वेतन आयोग में उनकी पुरानी चली आ रही 9-5-5 की की एसीपी व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है, जो कि उन्हें उत्तर प्रदेश के समय से ही मिल रही थी यही नहीं पे मैट्रिक्स में भी काफी छेड़खानी की गई । इससे पूर्व कार्मिक संघटनो ने माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड  के आश्वासन तथा कोविड के कारण जनहित को देखते हुए दिनांक 27 मई की अपनी हड़ताल स्थगित कर चुके हैं।
सभा की अध्यक्षता इंजीनियर शांतनु अग्रवाल तथा संचालन इंजीनियर मीनाक्षी भट्ट के द्वारा किया गया|

सभा में वक्ताओं ने घोर आक्रोश प्रकट किया कि लगातार कई वर्ष से संघर्ष करने के बाद भी कर्मचारियों की 9 वर्ष 14 वर्ष 19 वर्ष की एसीपी की व्यवस्था पर कोई आदेश जारी नहीं हुए संविदा कार्मिकों को समान कार्य समान वेतन के विषय में कोई कार्यवाही नहीं हुई इसके अतिरिक्त ऊर्जा निगमों में इंसेंटिव एलाउंसेस का रिवीजन, वेतन विसंगति और अनेकों समस्याएं अभी तक लंबित हैं मोर्चा द्वारा पूरे राज्य में अलग अलग जगहों पर गेट मीटिंग का कार्यक्रम दिया गया है तथा 20 जुलाई को ऊर्जा भवन पर एक दिवसीय सत्याग्रह का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा मोर्चा संयोजक ने शासन से अपील की तत्काल कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान किया जाए अन्यथा की स्थिति में 27 जुलाई की प्रथम पाली से तीनों ऊर्जा निगम में संपूर्ण हड़ताल की जाएगी।

सभा में इंजी. शांतनु अग्रवाल, इंजी. अतुल यादव, इंजी. मीनाक्षी भट्ट, श्री मनोज कश्यप, श्री प्रदीप पुंडीर, श्री रमेश चंद्र, श्री अमित कुमार और इंजी.फैसल खान आदि ने अपने विचार रखे। इसके अतिरिक्त पशुलोक बैराज पर आयोजित गेट मीटिंग में इंजी. राजीव कुमार, श्री भगवान सिंह, श्री विकास रावत, श्री लक्ष्मी प्रसाद, श्री सुरेंद्र बिष्ट, श्री भगवान सिंह चौहान, श्री भवानी दत्त भट्ट आदि ने प्रतिभाग किया।
सभा के अंत में सभी अधिकारीयों और कर्मचारियों द्वारा संकल्प लिया गया जब तक समस्याओं का समाधान नहीं होगा आंदोलन जारी रहेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *