8 मार्च से 22 मार्च, 2019 तक ”पोषण पखवाड़ा”मनाया जाएगा : अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी

शुक्रवार को सचिवालय में अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी की अध्यक्षता में प्रदेश में पोषण अभियान की वर्षगांठ के अवसर पर 8 मार्च से 22 मार्च तक आयोजित होने वाली पोषण अभियान के संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई। अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूडी द्वारा सभी विभागों को निर्देश दिए गए कि सभी विभाग समन्वय स्थापित कर ग्राम स्तर पर आंगनवाड़ी केन्द्र पर कार्यक्रम आयोजित करवायंे। उन्होंने कहा कि “अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस” दिनांक 8 मार्च 2019 को मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा ”पोषण पखवाडा” का शुभारम्भ किया जायेगा। सम्बन्धित विभाग एकजुट होकर कुपोषण समाप्त करने के लिए समन्वय स्थापित कर कार्य करें।

उन्होंने कहा कि पोषण अभियान के 1 वर्ष पूर्ण होने पर विभिन्न विभागांे के समन्वय से दिनांक 8 मार्च से 22 मार्च, 2019 तक ”पोषण पखवाड़ा” मनाया जाना है। इसमंे स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, पंचायती राज, ग्राम्य विकास, वित्त, पेयजल आदि विभागांे द्वारा जनसमुदाय को स्वास्थ्य एवं पोषण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से ग्राम स्तर पर गतिविधियांे का आयोजन सुनिश्चित करें। इसके लिये सभी संबंधित विभागों के स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यों को चिन्हित किया गया है। इस अभियान के तहत महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास द्वारा पोषण देने के साथ ही एनीमिया कैम्प व टीकाकरण से संबंधित योजनायें संचालित की जायेंगी, जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य एवं पोषण शिविरों का आयोजन, बाल पोषण कार्यक्रम, एनीमिया कैम्प के साथ ही स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं के साथ ही स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार किया जायेगा। उन्होंने ”पोषण पखवाड़े” में आयेजित की जाने वाली गतिविधियों को जन आन्दोलन डेशबोर्ड पोर्टल www.poshanabhiyaan.gov.in  प्रतिदिन 2mbकी फोटो सहित अपलोड करने के भी निर्देश दिये।

सम्बन्धित विभाग ”पोषण पखवाड़ा” के मध्य जनजागरूकता हेतु समाचार-पत्रों के माध्यम से प्रचार प्रसार करेंगे, जिसके लिये विभागवार तिथियां निर्धारित कर दी गयी हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अवगत कराया कि जनपद स्तर पर समस्त दवाईयां (जिंक, ओ.आर.एस, फाॅलिक एसिड, कैल्शियम, विटामिन ‘ए’ आदि) उपलब्ध हैं।

बैठक में अपर सचिव, पंचायती राज ने अवगत कराया कि 95 विकास खण्डों के 570 न्याय पंचायतों में भी ”पोषण पखवाड़ा” का आयोजन किया जायेगा जिसमें स्वास्थ्य एवं पोषण के सम्बन्ध में जानकारी दी जायेगी। कृषि विभाग राज्य में पैदा होने वाली फसलों मंडुआ, झिंगोंरा, मक्का आदि के पोषक तत्वों के विषय में जानकारी देंगे। स्वच्छ पेयजल के प्रचार-प्रसार हेतु ग्राम स्तर पर कार्यक्रम चलाकर जन समुदाय को जागरूक किया जायेगा। शिक्षा विभाग विद्यालयों में स्वास्थ्य शिविर लगाकर बच्चों की स्वास्थ्य जांच करवायेंगे।

बैठक में  निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन श्री युगल किशोर पंत, अपर सचिव, वित्त श्री भूपेश तिवारी, अपर सचिव, पंचायती राज विभाग श्री एच0सी0 सेमवाल, निदेशक, आई0सी0डी0एस0 सुश्री झरना कमठान, संयुक्त निदेशक सूचना श्री राजेश कुमार, उपनिदेशक आई0सी0डी0एस श्रीमती सुजाता आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *