अमित शाह को मिला गृहमंत्रालय, वहीं राजनाथ सिंह संभालेंगे रक्षा मंत्रालय का कार्यभार

गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज आधिकारिक तौर पर अपना कार्यभार संभाल लिया है। दोनों ही मंत्रियों के आगे अपने मंत्रालयों को लेकर ढेरों चुनौतियां हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह देश के नए गृहमंत्री बने है। राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान गृह मंत्रालय का जिम्मा बखूबी निभाया था, लेकिन अब उन्हें रक्षा मंत्रालय सौंपा गया है।

देश के नए रक्षा मंत्री के रूप में पदभार संभालने के बाद अब राजनाथ सिंह को कई चुनौतियों से सामना करना पड़ेगा। सबसे बड़ी चुनौती सीमा पर शांति बनाए रखने की होगी। चीन और पाकिस्तान के साथ लगी सीमाएं काफी संवेदनशील मानी जाती है। दूसरी महत्वपूर्ण चुनौती आतंकवाद से निपटने की होगी। हाल ही में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी अड्डो पर किए गए भारतीय वायुसेना के हमले के बाद से दोनों देशों के रिश्तें फिलहाल सामान्य नहीं हैं। एसे में राजनाथ सिंह को कश्मीर में आतंकवाद के साथ-साथ पाकिस्तान में मौजूद आतंकियों से निपटना होगा। तीनों सेनाओं के आधुनिकीकरण भी एक अहम चुनौती रहने वाली है।

वहीं भाजपा अध्यक्ष से देश के नए गृह मंत्री बने अमित शाह को भी कई चुनौतियों से निपटना होगा। अमित शाह के लिए खासतौर पर जम्मू-कश्मीर में धारा-370 और आर्टिकल 35-ए को को लेकर सरकार का रुख तय करने की होगी। भाजपा अध्यक्ष के तौर पर अमित शाह कई बार धारा-370 और आर्टिकल 35-ए को हटाने की बात कह चुके हैं। जम्मू-कश्मीर में इसी साल नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में गृह मंत्रालय का रुख घाटी की सियासत में काफी प्रभाव डाल सकती है। जम्मू-कश्मीर के अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए अमित शाह का नजरिया भी देखने लायक होगा। पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ताओं में लगातार राजनीतिक हिंसा की खबरें आती रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *