भरत मंदिर इंटर कालेज ऋषिकेश:  2018 में 75 वीं हीरक जयंती मनाई गई 

रत मंदिर इंटर कालेज ऋषिकेश,थी 2018 में 75 वीं हीरक जयंती मनाई गई 
……………..……………………………………………
भरत मंदिर इंटर कालेज ऋषिकेश  उस वक्त उत्तर प्रदेश के
चुनिंदा इंटर कालेज में था। जिसका नाम था. श्री अजय सिंह बिष्ट ( योगी आदित्यनाथ)के अलावा यहाँ के काफी छात्र आगे बढ़े, अपने अपने फ़ील्ड में
नाम कमाया.
1- श्री अरविंद कुमार नागलिया , एयर मार्शल
2-  श्री विजय वाष्र्णेय , आईएएस
3-  श्री महेंद्र भट्ट , विधायक
4-    डॉ  विजय धस्माना, कुलपति , हिमालयन यूनिवर्सिटी
5-   श्री ब्रह्म स्वरूप  ब्रह्मचारी , जय राम आश्रम, कुलपति
6- श्री सुरेन्द्र कुमार अग्रवाल , सचिव  सदस्य , विश्व बैंक
7-  श्री नरेन्द्र कुमार , वैज्ञानिक, यूएसए
8-  श्री एच के भाटिया, प्रोफेसर
9-  श्री डीपी गैरोला , जज / प्रमुख सचिव
10 श्री ललित मोहन रयाल, पीसीएस टॉपर 2005 बैच
11- श्री संजय तिवाड़ी , सलाहकार भू संस्थान कनाडा
12- श्री  अविनाश मनचंदा, एमडी , रेनबैक्सी
13- श्री दीप शर्मा , पूर्व पालिकाध्यक्ष , ऋषिकेश
14-  श्री बचन पोखरियाल , उधोगपति , ऋषिकेश
15-  श्री प्रीतम सिंह पंवार पूर्व मंत्री, विधायक, एक क्लास
           यहाँ पढ़े.
16-  श्री राहुल कोटियाल , आईएएस, 2004 में इंटर किया.
और भी काबिल छात्र यहाँ से निकले हैं। जिन्होंने
अच्छा मुकाम पाया। आप यह न सोचें कि आपका नाम यहाँ नहीं
है. यही नाम बड़ी ढूढ, और शोध से मिले हैं, यदि आपने भी इस इंटरमीडिएट कालेज से पढ़ाई कर अच्छा स्थान बनाया है तो आप बता सकते हैं।
2018 में इस इंटर कालेज की 75 वीं वर्ष  में हीरक जयंती  मनाई गई। सीएम श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी होनहार छात्रों को समानित किया  था। इसका आयोजन इंटर कालेज की समिति, और पुरातन छात्र की समिति ने किया था.  जिसमें विजय धस्माना, बचन पोखरियाल खास तौर पर थे. इन दोनों ने भी विजनिस में अच्छा
मुकाम हासिल किया. यधपि विरासत में विजनिस मिला लेकिन
अच्छे  भतीजा, पुत्र होता है जो मिली हुई विरासत को ईमानदारी
से विस्तार दे. यही उन्होंने किया. डॉक्टर विजय धस्माना के
स्वामीराम मेडिकल कॉलेज, व एसआरयु यूनिवर्सिटी में
जब राष्ट्रपति आते हैं तब उनका अहसास उत्तराखण्ड को होता है.
उनके मेडिकल कॉलेज में , हॉस्पिटल की मेस में खाना खा रहा था
तो 60 रुपये की खाने की प्लेट  में , पनीर, दाल, सब्जी, रोटी, चावल, से दंग रह गया. मैं एक संबंधी को देखने गया था.
तीमारदार  के रुप को.  1000, 1500 लोगों को सस्ता खाना खिलाना यह भी एक सेवा ही है. बचन पोखरियाल भी होटल,  कंस्ट्रक्शन के उधोग से है। उनका व्यवहारिक होना सबको जचता है.
1992 में इस कालेज को 50 साल पूरे हुए थे. उत्तर प्रदेश के एजुकेशन मंत्री श्री राजनाथ सिंह इंटर कालेज आये थे.
उन्होंने महन्त परशुराम जी का हॉल का उदघाटन किया था.
1992 में जब राजनाथ जी प्रवेश किया , तब तीन साल पहले
योगी आदित्यनाथ इंटर कालेज पास आउट कर चुके थे.
जारी
शीशपाल गुसाईं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *