कोविड-19 से बचाव के लिए सरकार ने आइवरमेक्टिन दवा को दी मंजूरी

कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है इसी के मद्देनजर राज्य भर में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार भी बढ़ा दी गई है लेकिन अब इस संक्रमण के रोकथाम के लिए आइवरमेक्टिन (Ivermectin) दवा को राज्य स्तरीय क्लीनिकल टेक्निकल कमेटी की संस्तुति के आधार पर जन सामान्य को ‘मैंने प्रोफिलैक्सिस (बीमारी को रोकने के लिए की गई कार्रवाई) के तौर पर दिए जाने की मांग रखी है इसके चलते उत्तराखंड शासन मुख्य सचिव ओम प्रकाश द्वारा क्लीनिकल टेक्निकल कमेटी की संस्तुति के आधार पर राज्य के समस्त परिवारों को आइवरमेक्टिन औषधि की किट तैयार कर संक्रमण की रोकथाम के लिए मुहैया कराने के निर्देश राज्य के सभी जिलाधिकारियों को दे दिए हैं।

आइवरमेक्टिन 12 mg” लेकर विशेष जानकारी

कोविड-19 में प्रारंभिक उपचार रोकथाम के लिए आइवरमेक्टिन 12 mg को औषधि के रूप में सामान्यत वयस्क व्यक्तियों और 15 साल से ऊपर के बच्चों को एक-एक गोली प्रतिदिन सुबह और रात को खाने के बाद 3 दिन तक दिए जाने की सलाह दी गई है.

इसी प्रकार एक व्यक्ति को 6 गोलियां और चार व्यक्तियों के परिवार के लिए 24 गोलियों की किट तैयार करने के लिए जिला व स्वास्थ्य प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं.

10 साल से 15 साल तक के बच्चों को आइवरमेक्टिन 12mg की एक गोली प्रतिदिन खाने के बाद 3 दिन तक दिए जाने की सलाह दी गई है.

2 साल से 10 साल तक के बच्चों को चिकित्सक की सलाह के आधार पर कोरोना से बचाव के लिए आइवरमेक्टिन की दवाई देने की मेडिकल जानकारी दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *