अमेरिका-ईरान तनातनी के बीच बोले डोनाल्‍ड ट्रंप, ‘आग से खेल रहा है तेहरान’

अमेरिका और ईरान में जारी तनाव के बीच डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को तेहरान को आगाह करते हुए कहा कि वह ‘आग से खेल रहा है।’ उनकी यह प्रतिक्रिया सोमवार को ईरान के यह कहे जाने के बाद आई कि उसने 2015 के परमाणु समझौते में तय सीमा से ज्यादा मात्रा में यूरेनियम का संवर्धन कर लिया है और अमेरिका के ‘अत्याधिक दबाव’ के कारण यह समझौता खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रम्प ने ईरान को आगाह करते हुए कहा, ‘उन्हें पता है वह क्या कर रहे हैं। उन्हें पता है वह किसके साथ खेल रहे हैं और मुझे लगता है वह आग के साथ खेल रहे हैं।’ वहीं ब्रिटेन ने भी तेहरान को ‘आगे किसी भी कदम से बचने के लिए’ कहा है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति से पहले सोमवार को ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा था, ‘ईरान ने मई में घोषित अपनी योजना के आधार पर 300 किलोग्राम की सीमा पार कर ली है।’ उन्‍होंने यह भी कहा कि ईरान अपने इस कदम को वापस भी ले सकता है।

यहां उल्‍लेखनीय है कि अमेरिका ने पिछले साल परमाणु समझौते से खुद को अलग कर लिया था और ईरान के महत्वपूर्ण तेल निर्यात व वित्तीय लेन-देन तथा अन्य क्षेत्रों पर कड़े प्रतिबंध फिर से लगा दिए थे। ईरान ने समझौते को बचाने के लिए इसके अन्य साझेदारों पर दबाव बढ़ाने की कोशिश के तहत 8 मई को कहा था कि वह संवर्धित यूरेनियम और भारी जल भंडार पर लगाई गई सीमा को अब नहीं मानेगा।

साथ ही यह भी कहा था कि वह अन्य परमाणु प्रतिबद्धताओं को भी नहीं मानेगा, जब तक कि समझौते के शेष साझेदार- ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, जर्मनी और रूस इन प्रतिबंधों से उसे छुटकारा नहीं दिलाते, खासकर तेल की बिक्री पर लगे प्रतिबंध के संबंध में।

ईरान के विदेश मंत्री ने सोमवार को कहा था कि ईरान ने अपनी मंशा मई में ‘बहुत स्पष्ट’ तौर पर जाहिर कर दी थी। अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) ने भी सोमवार को इसकी पुष्टि की कि ईरान ने वह सीमा लांघ ली, जो समझौते ने उसके कम संवर्धित यूरेनियम के भंडार पर लगाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *