दून मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर इमरजेंसी ड्यूटी से मार रहे बंक

 अस्पताल की इमरजेंसी में दुर्घटना आदि के मामले तो आते ही हैं, इस वक्त डेंगू, वायरल मौसमी बीमारियों के कारण भी अस्पताल पर अत्याधिक दबाव है। दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के चिकित्सक अब इमरजेंसी ड्यूटी से भी बंक मार रहे हैं ।डॉक्टर अपनी ड्यूटी को लेकर कितने गंभीर हैं, इसकी पोल एक वीडियो ने खोल दी है। 

इस वायरल वीडियो में डॉक्टर एक मरीज के तीमारदारों के बीच जबरदस्त नोकझोंक हो रही है। प्रारंभिक पड़ताल में पता लगा है कि इस दौरान तीन डॉक्टर ड्यूटी से गायब थे। दरअसल, दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल की इमरजेंसी में एक किशोर को भर्ती नहीं करने एवं परिजनों के हंगामे का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो दो दिन पहले रात के समय का बताया गया है। जिसमें ईएमओ डॉ. नरेश और परिजनों की नोकझोंक हो रही है। 

वहीं, परिजन यहां मरीज भर्ती नहीं होने पर ले जाते हैं। ईएमओ का कहना है कि मरीज यहीं से डिस्चार्ज होकर गया था, परिजन दोबारा उसे लेकर आए तो इंजेक्शन दिया गया। उसकी हालत सामान्य थी। परिजनों ने बेवजह हंगामा किया। 

एमएस डॉ. केके टम्टा का कहना है कि वीडियो उन्होंने देखा है। इसके बारे में जानकारी ली जा रही है। उनका कहना है कि उस वक्त ईएमओ समेत चार डॉक्टर इमरजेंसी में तैनात थे। तीन डॉक्टर ड्यूटी से नदारद थे। ऐसे में पूरा बोझ एक ईएमओ पर गया। इसी कारण ये स्थिति बनी। प्राचार्य को इस विषय में पत्र भेज दिया है। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य ने भरोसा दिया कि स्वास्थ्य सुविधाओं को सुधारने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे। ज्ञापन देने वालों में राजपुर रोड के पूर्व विधायक राजकुमार, संजय किशोर, राजेश शर्मा, हरि भट्ट, रमेश कुमार, नीनू सहगल, अर्जुन सोनकर, निखिल कुमार आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *