पैक्स समितियों के कर्मचारी अब कागज की जगह कंप्यूटर से काम करेंगे: धन सिंह रावत

देहरादून : उत्तराखंड के सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा है पैक्स कंप्यूटराइजेशन सहकारिता के विकास का आधार बनने जा रहा है। उन्होंने कहा बहुउद्देशीय सहकारी समितियों के सचिव पूरी तरह से कंप्यूटर सीख लें। वह अब कागजों की जगह कम्प्यूर से काम करेंगे। समितियों में किसानों को ऋण व खाद बीज देना, तथा अन्य काम करना, मिनी बैंकों में कम्प्यूर से लेन देना होना।

अब वह कम्प्यूर से करेंगे। जिससे किसानों को सहूलियत होगी और इस सिस्टम से पारदर्शिता आएगी। कंप्यूटरीकरण से और लोग सहकारिता समितियों और मिनी बैंकों से जुड़ेंगे। उन्होंने कहा कि साढे 4 साल में उत्तराखंड सहकारिता विभाग ने अनेक क्षेत्रों में बहुत काम किए हैं।

सहकारिता मंत्री डॉ रावत आज शुक्रवार को राजपुर रोड स्थित आईसीएम में पैक्स सचिवों की ट्रेनिंग प्रोग्राम के समापन अवसर पर बोल रहे थे।
यह 8 वें बैच का कम्प्यूटर ट्रैनिंग प्रोग्राम था।
यह कार्यक्रम अगले माह तक चलेगा।

बैच में 60 पैक्स सचिव, टिहरी, अल्मोडा रुद्रप्रयाग पिथौरागढ़, पौड़ी गढ़वाल, नैनीताल, उधमसिंह नगर एवं चम्पावत जनपदों से प्रशिक्षित किये गये। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री डॉ रावत ने पुस्तक का भी विमोचन किया गया। इस पुस्तक को आईसीएम ने छापा है। आईसीएम केंद्रीय सहकारिता मंत्रालय का संस्थान है। इस पुस्तक में ट्रेनिंग की बारीकियों का उल्लेख किया गया है।

उत्तराखण्ड राज्य, तेलगांना के बाद पैक्स के कंप्यूटराइजेशन करने में दूसरा राज्य बन गया है। सहकारी प्रबंध संस्थान देहरादून को संपूर्ण उत्तराखण्ड के एम-पैक्स के सचिवों के कम्प्यूटराइजेशन हेतु Develop किये गये Unite ERP Software पर प्रशिक्षण प्रदान करने का दायित्व दिया गया है तथा 5 दिवसीय प्रत्येक बैच में 60 की संख्या में पैक्स सचिवों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। संस्थान द्वारा अब तक 5 दिवसीय 8 बैच को प्रशिक्षण दिया गया है।

जनपद नैनीताल विकासखंड धारी में बहुद्देशीय सहकारी समिति धनाचुली पैक्स समिति के मोहन राम आर्य ने बताया कि उनकी समिति का 42 लाख रुपए प्रॉफिट है। कंप्यूटराइजेशन से उनकी समिति और ज्यादा तरक्की करेगी।

जनपद रुद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक में बहुद्देशीय सहकारी समिति गोरतीपाला के सचिव श्री राकेश मोहन थपलियाल ने बताया की कंप्यूटराइजेशन से उनकी समितियों के ग्राहक बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी समिति के पास ग्रामीणों का 5 करोड रुपए डिपाजिट है। और समिति का 35 लाख रुपए प्रॉफिट है। उन्होंने कहा कंप्यूटराइजेशन से
राष्ट्रीयकृत बैंकों के ग्राहक हमारी समिति में आएंगे और हम अपना कारोबार बढ़ाएंगे। क्योंकि सहकारिता समितियों के कर्मचारियों का व्यवहार अच्छा रहता है।

जनपद रुद्रप्रयाग के उखीमठ ब्लाक के अंतर्गत रामपुर समिति के सचिव शिव सिंह राणा ने बताया कि वह प्रशिक्षण में उन्होंने कंप्यूटर सीखा। वह समिति में पहुंचकर कंप्यूटर पर काम करेंगे और कुछ दिन बाद वह दक्ष हो जाएंगे। समितियों में कंप्यूटर पहुंच चुके हैं।

कार्यक्रम का प्रारम्भ सहकारिता मंत्री द्वारा दीप प्रज्जवल एवं आजादी के 75 वें अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में राष्ट्रगान से किया गया।

अपर निबंधक व राज्य सहकारी बैंक की प्रबंध निदेशक ईरा उप्रेती ने प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किये।

इस मौके उत्तराखंड सहकारी संघ के चेयरमैन श्री मातबर सिंह रावत,संस्थान के निदेशक श्री अजय रस्तोगी, अनीता कौल गुप्ता, सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *