प्रसिद्ध लोक कलाकार व हास्य के जनक रामरतन काला का निधन

उत्तराखंड के गढ़वाली प्रसिद्ध लोक कलाकार व हास्य के जनक रामरतन काला का निधन हो गया है।

1990 के दशक के लगभग आकाशवाणी नजीबाबाद से एक गढ़वाली गीत पूरे गढ़वाल में धूम मचाता था ” मिथै ब्योला बणै द्याओ ब्योली खुजै द्यो ” कोटद्वार मानपुर के रहने वाले रामरतन काला का यह गीत आज भी उस दौर के रेडियो श्रोताओं को खूब याद आता है लेकिन दुःखद खबर आ रही है कि गढ़वाली गीतों का यह सदाबहार गायक अब इस दुनिया को अलविदा कह गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *