पूर्व प्रमुख वन संरक्षक, वरिष्ठ समाजसेवी आरबीएस रावत बने सीएम के प्रमुख सलाहकार

अंतरराष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में काम करने से रावत की पहचान देश के योग्यतम अफसरों में होती है। उनके अनुभव व ज्ञान को देखते हुए आईएएस अफसर भी उनका बड़ा सम्मान करते‌ हैं। डा. रावत उस विवेकानंद फाउंडेशन से भी जुड़े हैं जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ताकत माना जाता है। सरल स्वभाव के डा. रावत चमोली जनपद के मूल निवासी हैं और फारेस्ट आफीसर होने के साथ-साथ वे अच्छे ट्रैकर भी रहे हैं। रावत को बाद में तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का पहला चेयरमैन बनाया था।
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बताया कि डा.रावत की प्रमुख सलाहकार पद पर नियुक्ति से संबंधित फाइल अनुमोदित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि डा. रावत के अनुभवों का लाभ राज्य के विकास में उठाया जाएगा। गौरतलब है कि सेवानिवृत्त प्रमुख मुख्य वन संरक्षक डा.रावत वर्तमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण गतिविधि के उत्तराखंड प्रांत संयोजक भी हैं। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री जल्द ही विभिन्न क्षेत्रों के कुछ और विशेषज्ञों को सलाहकार नियुक्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *