आपदा प्रभावित किसानों को हर्जाना देने का आदेश

उत्तराखंड में 2013 को जून के महीने में आई आपदा और बारिश के कारण देहरादून में किसानों की लीची और आम की फसलों को बहुत ज्यादा नुकसान हो गया था। बीमा कराए जाने के बावजूद कंपनी ने फसल के नुकसान का हर्जाना देने से इनकार कर दिया था। मगर, यह मामला उपभोक्ता फोरम पहुंचा तो उसने किसानों के पक्ष में फैसला सुना लिया। उपभोक्ता फोरम अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह दुग्ताल, सदस्य अलका नेगी और विमल प्रकाश नैथानी ने इस मामले में सुनवाई की। उनके फैसले के तहत, एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया कंपनी को आम.लीची की फसल को हुए नुकसान की भरपाई करनी होगी। क्लेम के साथ ही मानसिक क्षतिपूर्ति और वाद व्यय भी देना होगा।
तीस दिन में आदेश नहीं माना तो ब्याज देना होगा
उपभोक्ता फोरम ने बीमा कंपनी को किसान फूल सिंह को 70 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति, किसान अनिल सिंह रावत को 50 हजार रुपयेए सत्यदेव सिंह रावत को 2.50 लाख रुपये, रतन सिंह आर्या को एक लाख रुपयेए रवि भूषण नेगी को 50 हजार रुपयेए कृष्ण सिंह रावत को 50 हजार रुपये का क्लेम, संजीव नेगी को 25 हजार रुपये और देवेंद्र सिंह को 30 हजार रुपये देने के आदेश दिए हैं। बीमा कंपनी को इन सभी किसानों को मानसिक क्षतिपूर्ति के तौर पर दस हजार और वाद व्यय के तौर पर पांच हजार भी देने होंगे। 30 दिन में ऐसा न होने पर 9% वार्षिक दर से ब्याज भी देना होगा। ये सभी किसान देहरादून में भोगपुर इलाके के हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *