सास-ससुर और पत्नी के खिलाफ सिपाही ने दर्ज कराया मुकदमा

 

सिपाही की पत्नी शादी के बाद संयुक्त परिवार में रहने से मना करते हुए मायके चली गई। सिपाही ने उसे वापस बुलाने की कोशिश की तो पत्नी ने पुलिस में शिकायत कर दी। महिला हेल्प लाइन में महीनों चली काउंसिलिंग के बाद भी सिपाही की पत्नी परिवार के साथ रहने को राजी नहीं हुई। उसने शादी में खर्च हुए पैसे और दिए गए सामान लौटाने का नोटिस भेज दिया। सिपाही का आरोप है कि शादी में खर्चा बढ़ाचढ़ा कर बताया और उसकी फर्जी रसीदें दी गईं। इस मामले में सिपाही की तहरीर पर नेहरू कॉलोनी पुलिस ने सिपाही की पत्नी और सासससुर के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। 

एसओ दिलबर नेगी ने बताया कि देहरादून में सिपाही दीपक सेनवाल तैनात हैं। उसने तहरीर में बताया कि उसकी शादी मार्च 2016 में पूजा पुत्री सुदर्शन सिंह निवासी रायपुर से हुई। शादी के बाद कुछ दिन ठीकठाक रहा, लेकिन बाद में उसकी पत्नी पूजा ने उसके परिवार के साथ रहने से मना कर दिया। समझाने पर आत्महत्या की धमकी देने लगी। अगस्त 2016 में पूजा के मातापिता उसके घर आए और पूजा को साथ लेकर चले गए। साथ ही यह भी कहा कि यदि उसे पूजा के साथ रहना है कि रायपुर में आकर रहे।

इस पर वह राजी नहीं हुआ तो पूजा ने पुलिस में शिकायत कर दी। इस मामले में महिला हेल्प लाइन में आठ बार काउंसिलिंग हुई। काउंसिलिंग के कुछ दिन बाद फरवरी 2017 में पूजा ने अधिवक्ता के माध्यम से उसे नोटिस भेजते हुए शादी में दिए गए 10 लाख रुपये के सामान और शादी में खर्च हुए आठ लाख रुपये वापस करने को कहा गया। इस दौरान सामानों की मूल खरीद रसीदों के बजाए इस्टीमेट की पर्चियां भेज दीं। सिपाही का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग उससे धोखाधड़ी कर मोटी रकम वसूला चाहते हैं। एसओ ने बताया कि मामले में पूजा उसके मातापिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *