मशहूर पर्वतारोही बछेंद्री पाल का आज जन्मदिन…

मशहूर पर्वतारोही बछेंद्री पाल का आज जन्मदिन है 24 मई 1954 को उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में जन्मी बछेंद्री भारत की पहली महिला एवरेस्ट विजेता रही हैं उनका जन्म उत्तरकाशी जिले के एक छोटे से गांव नकुरी में हुआ था। पिता का नाम किशनपाल सिंह और माता का नाम हंसा देवी था वो एक खेतिहर परिवार में जन्मी बछेंद्री ने बीएड किया और स्कूल में शिक्षिका बनने के बजाय पेशेवर पर्वतारोही का पेशा अपनाने पर बछेंद्री को परिवार और रिश्तेदारों का विरोध झेलना पड़ा। ये भी संयोग रहा कि उन्होंने अपने जन्मदिन से एक दिन पहले यानी 23 मई को एवरेस्ट पर फतह किया था।

बचपन से बहादुरी की मिसाल रहीं बछेंद्री पाल ने कई मुकाम बनाए उन्होंने ऐसे समाज में अपनी पहचान बनाई है जहां महिलाओं को कम समझा जाता रहा है उनके पढ़ने-लिखने की चाहत का भी मजाक उड़ाया जाता था बछेंद्री पाल को कोई आयरन लेडी कहता है तो कोई प्रेरणास्रोत मानता, बताता तो कोई जीवन में सबकुछ हांसिल करने का दमखम रखने वाली शख़्सियत कहता। उन्हें पद्म भूषण, पद्म श्री और अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। असाधारण उपलब्धियों से भरा है उनका जीवन बछेंद्री के लिए पर्वतारोहण का पहला मौका 12 साल की उम्र में आया था उन्होंने अपने स्कूल की सहपाठियों के साथ 400 मीटर की चढ़ाई की यह चढ़ाई उन्होंने किसी योजनाबद्ध तरीके से नहीं की थी दरअसल, वे स्कूल पिकनिक पर गई हुई थीं चढ़ाई चढ़ती गईं लेकिन तब तक शाम हो गई जब लौटने का ख्याल आया तो पता चला कि उतरना संभव नहीं है रातभर ठहरने के लिए उन के पास पूरा इंतजाम नहीं था बगैर भोजन और टेंट के उन्होंने खुले आसमान के नीचे पहाड़ की चोटी पर रात गुजार। बछेंद्री पाल का जीवन असाधारण उपलब्धियों से भरा होने के साथ उनका जीवन प्रतिबद्धता, पैशन और कठोर अनुशासन की मिसाल भी माना जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *