उत्तराखंड में पलायन को रोकने के लिए ये तकनीक अपना रहे हैं ग्रामीण लोग, देखिये वीडियो

दस्तक उत्तरखंंड : 

जैसा की आप सब जानते हो की उत्तराखंड में पलायन लगातार बढ़ता जा रहा है। लोग गांव छोड़कर शेरोन की और भाग रहे हैं।  इससे लगभग 50 % से अधिक लोग पलायन कर चुके हैं।  इसका सबसे जरुरी कारण है। वेरोजगारी, शिक्षा के अल्प साधन ,अल्प  विकास अदि बहुत सी दिक्ततों के कारण पलायन बढ़ता जा रहा है सरकारकी और से  भी इसे रोकने की कोशिश नहीं हो रही है। लेकिन कुछ ग्रामीण लोग हैं।  जो अपनी शाभ्यता को बचाकर रखने के लिए अनेक नई नई  तकनीक अपना रहे हैं।  जहां लोग गांव की खेती -बॉडी छोड़कर शेरोन की और बसने लगे हैं वहीँ कुछ ग्रामीण लोग उन्ही खेतों से अपना खुद का बिजनिस कर ने में जुट चुके हैं और लोगों को सन्देश दे रहे हैं कि हम पहाड़ों में रहकर बी बहुत कुछ  कर सकते हैं

बुरांश के जूस का बिजनिस किया शुरू 

आपको बता दे की पौड़ी गढ़वाल के थलीसैण ब्लॉक का एक छोटा सा गाउन है डूंगरी जहां के लोगों ने हल ही में अपना एक खुद का बिजनिस शुरू किया है ये लोग जंगलों से बुरांस के फूलों को तोड़कर लेट हैं।  और उसका जूस बनाकर बेचते हैं।  इस  वहां के कार्यकर्ता बता रहे थे कि उनका यह मॉल दिल्ली- देहरादून जैसे बड़े शहरों तक सप्लाई होता है।  जिससे खूब अच्छी कमाई  भी हो जाती है. देखिये वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *